शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa

शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa

“शीघ्रपतन की दवा” परिचेय …

जो चाहें वो पढ़ें hide

शीघ्रपतन की दवा: समय से पहले स्खलन का इलाज कैसे करें सबसे पहले हमें इस स्थिति को स्पष्ट रूप से समझना चाहिए।

  • यह इसलिए है क्योंकि इसके बारे में इंटरनेट पर बहुत सारी गलत सूचनाएं फैली हुई हैं।
  • बिना किसी मेडिकल बैकग्राउंड के कुछ लोग इंटरनेट पर बहुत सारे भ्रामक लेख लिखते हैं।

इसके कारण, किसी आम व्यक्ति के लिए समय से पहले स्खलन को सही तरीके से समझना बहुत मुश्किल है।

  • शीघ्रपतन को कैसे ठीक करें, बहुत से लोग अखबारों, पत्रिकाओं आदि जैसे मुद्रण माध्यमों पर और साथ ही सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर बहुत सारे भ्रामक विज्ञापन देखकर बहुत पैसा बर्बाद करते हैं।
  • बहुत सारी दवाएं लेने के बाद, उन्हें इस समस्या से कोई राहत नहीं मिलती है।
  • बहुत से लोग इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बहुत सारे पैसे बर्बाद कर देते हैं।
  • सबसे पहले, हर आदमी को इस समस्या का मुख्य कारण पता होना चाहिए।

आमतौर पर, यह एक गंभीर समस्या नहीं है लेकिन लोग इसके बारे में गलत जानकारी प्राप्त करके इसे गंभीर बनाते हैं


संभोग की सामान्य समय अवधि…

शीघ्रपतन को कैसे ठीक करें, एक बात जो हमेशा आपके दिमाग में रहती है।

  • 2 से 10 मिनट संभोग का सामान्य औसत समय है। हाल के अध्ययनों में, यह पाया गया है कि 4 से 5 मिनट संभोग का सामान्य औसत समय है।
  • यदि हम इसकी सीमा के बारे में बात करते हैं तो यह व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न होता है और समय 2 से 15 मिनट तक बदलता रहता है।
  • यह सब किसी भी व्यक्ति की शारीरिक और मानसिक स्थिति के प्रकार पर निर्भर करता है।

शीघ्रपतन क्या है ? (What is premature ejaculation)…

  • पुराने अध्ययन कहते हैं कि अगर कोई भी व्यक्ति संभोग के दौरान 2 मिनट से पहले स्खलन करता है तो इसे शीघ्रपतन कहा जाता है।
  • लेकिन हाल के कुछ अध्ययनों में बताया गया है कि अगर कोई भी व्यक्ति अपने लिंग को योनि में डालने से 1 मिनट पहले स्खलन करता है तो इसे शीघ्रपतन कहा जाता है।
  • कुछ शोध समय को महत्वपूर्ण नहीं बताते हैं, मुख्य बात यह है कि आपके साथी और आप की संतुष्टि है

हम शीघ्रपतन को कब बीमारी (PME) कहते हैं?

  • 1. यदि स्खलन या निर्वहन प्रवेश के एक मिनट के अन्दर होता है।
  • 2. ये लक्षण लगातार छह महीने तक बने रहते हैं।
  • 3. दोनों साथी इस स्थिति को महसूस करते हैं, फिर हम इसे एक बीमारी कहते हैं।

“शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa” पढ़ते रहे…


शीघ्रपतन(PME) का मुख्य कारण क्या है?

इस शीघ्रपतन के लक्षण, कारण, सारे उपचार और परहेज जानने से पहले इसके कारणों का अवलोकन आवश्य करना चाहिए|

  • शिग्रस्खलन के main कारण अभी भी अज्ञात(unknown etiology) है।
  • बहुत सारे अध्ययन हैं जो बताते है कि वे रोगी की मनोवैज्ञानिक और शारीरिक स्थिति से संबंधित होते हैं।

इनके अलावा, कुछ कारण जो कई अध्ययनों द्वारा समर्थित हैं, नीचे दिए गए हैं।

  • यह लिंग की संवेदनशीलता में वृद्धि के कारण है, इस कारण से अधिकांश पुरुष तुरंत निर्वहन करते हैं (कुछ अध्ययन इस तथ्य को वापस करते हैं)।
  • कुछ लोगों में अत्यधिक यौन उत्तेजना भी शीघ्रपतन का मुख्य कारण है।
  • बचपन में अप्रिय यौन अनुभव जैसे कि छेड़छाड़ या वयस्क अवस्था में भी शीघ्रपतन को ट्रिगर करता है।
  • यह मस्तिष्क में पाए जाने वाले एक रसायन सेरोटोनिन के स्तर में कमी के कारण भी होता है।
  • सेरोटोनिन एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो मस्तिष्क के कामकाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है (कुछ अध्ययनों ने इस तथ्य का समर्थन किया है)।

सेरोटोनिन को खुशी हार्मोन कहा जाता है और यौन कल्याण बनाए रखता है।

  • कुछ अध्ययन कहते हैं कि यह असामान्य सेक्स पैटर्न या आपके शरीर की लय के विकास के कारण है।
  • उदाहरण के लिए,  यदि आपका शरीर 3 मिनट के पैटर्न या लय के अनुकूल है तो आप आमतौर पर तीन मिनट के बाद निर्वहन या सख्लन करते हैं।
  • इसलिए यदि किसी व्यक्ति में एक मिनट के लिए सेक्स पैटर्न विकसित होता है, तो वह आमतौर पर एक मिनट के बाद स्खलन कर देता है।

इसीलिए शीघ्रपतन को असामान्य सेक्स रिदम या पैटर्न कहा जाता है और इसे सामान्य सेक्स पैटर्न में बदला जा सकता है।

“शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa” keep reading


Shigrapatan (PME) के अन्य कारण …

  • तनाव, चिंता, अवसाद, कुछ अन्य समस्याएं जैसे इरेक्टाइल डिसफंक्शन, रिश्ते की समस्याएं, कमजोर मनोविज्ञान बूस्टर कारक हैं जो रोगी की समस्या को बढ़ाते हैं।

प्रदर्शन दबाव का मतलब है कि कुछ पुरुष यह सोचते हैं कि संभोग शुरू करने से पहले वे अपनी महिला साथी को कैसे संतुष्ट करेंगे।
इस प्रदर्शन तनाव के कारण, वे बहुत जल्दी निर्वहन करते हैं।

  • इसलिए यौन क्रिया करने से पहले आराम करें क्योंकि यह एक माइंड गेम है।
  • यदि आप महीने में एक बार या दो महीने में एक बार सेक्स करते हैं तो उदाहरण के लिए यौन गतिविधि की आवृत्ति में कमी भी शीघ्रपतन को ट्रिगर करती है।
  • सेक्स पार्टनर बदलने से भी जल्दी डिस्चार्ज होने में योगदान होता है। यह प्रदर्शन के दबाव के कारण भी है क्योंकि आप सोचते हैं कि मैं उसे कैसे संतुष्ट करूंगा।
  • धूम्रपान, शराब और किसी अन्य नशीली दवाओं के सेवन से भी शीघ्रपतन होता है।
  • कुछ लोग सोचते हैं, शराब लेने के बाद वे अच्छा प्रदर्शन करते हैं लेकिन यह केवल शुरुआती चरणों में होता है।
  • शराब के लंबे समय तक उपयोग से भी आपकी कामेच्छा कम हो जाती है।
  • कुछ शारीरिक कारक या रोग जैसे मधुमेह, थायराइड, इस समस्या का कारण परिधीय नसों में न्यूरोपैथी है(मतलब नसों की कमजोरी).
  • मूत्र पथ में संक्रमण और प्रोस्टेट में भी इस स्थिति को ट्रिगर करता है।

शीघ्रपतन का मुख्य उपचार(Treatment of premature ejaculation)…

विभिन्न चिकित्सा प्रणालियों के अनुसार बहुत सारे उपचार हैं। यदि आप जानना चाहते हैं कि शीघ्रपतन को कैसे ठीक किया जाए तो नीचे दिए गए दिशानिर्देशों को अवश्य पढ़ें।

  • आयुर्वेद या आप कह सकते हैं कि हर्बल उपचार प्रणाली में शीघ्रपतन के इलाज के लिए बहुत सारे प्रभावी सुरक्षित हर्बल सप्लीमेंट हैं।
  • ये हर्बल दवाएं प्रकृति में सुरक्षित हैं और कोई भी आयुर्वेदिक चिकित्सकों के परामर्श से इनका उपयोग कर सकता है।

दूसरी मुख्य धारा यह है कि आप जानते हैं कि आधुनिक चिकित्सा प्रणाली में भी वैज्ञानिक अनुसंधान के साथ बहुत सारी दवाएं हैं।

  • लेकिन इन दवाओं का बहुत अधिक दुष्प्रभाव और प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है
  • और इन दवाओं का उपयोग डॉक्टर के परामर्श के बिना नहीं किया जाता है।
  • तीसरा होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली है जिसमें शीघ्रपतन से निपटने के लिए बहुत सारी सुरक्षित दवाएं हैं।

मैंने अंग्रेजी आधुनिक दवाओं के साथ अपने शीघ्रपतन को कैसे ठीक किया?

  • उपचार मूल कारण पर निर्भर करता है इसलिए सबसे पहले,
  • आप एक डॉक्टर से परामर्श करके अपनी समस्या का मूल कारण पता लगाना चाहिए।
  • फिर डॉक्टर मुख्य कारण के अनुसार आपका इलाज करता है।
  • लेकिन अगर डॉक्टर द्वारा उचित कारण का निदान नहीं किया जाता है,
  • तो बहुत सारी दवाएं हैं जो लक्षणात्मक रूप से काम करती हैं।
  • किसी भी प्रकार की दवा शुरू करने से पहले आपको अपने डॉक्टर से परामर्श जरूरी करना चाहिए।

युगल चिकित्सा(couple therapy) …

  • आपका चिकित्सक उन जोड़ों को इस चिकित्सा की सिफारिश करता है जो लंबे समय से एक साथ रह रहे हैं।
  • इस थेरेपी के कुछ सत्र हैं। इस थेरेपी में, आपका डॉक्टर दंपति के साथ काउंसलिंग करता है

और उन्हें अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए बेहतरीन टिप्स और तकनीक देता है।

“शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa” पढ़ते रहे…


SSRI किस्म की दवाएं…

  • पहली पंक्ति की दवाओं को SSRI (सेलेक्टिव सेरोटोनिन रीपटेक इनहिबिटर) कहा जाता है।
  • इनका उपयोग मुख्य रूप से चिंता, अवसाद जैसी स्थितियों के इलाज के लिए किया जाता है,
  • लेकिन संभोग करते समय पुरुष की समय अवधि को बढ़ाने के लिए भी एक बड़ी भूमिका होती है।
  • कुछ उदाहरण हैं फ्लुक्सैटाइन(fluoxetine), डेपॉक्सिटाइन(dapoxetine), सेराट्रलाइन(sertraline), पैरॉक्सिटिन(paroxetine), क्लोमीप्रेमिन(clomipramine) आदि।

इन दवाइयों को लेने से पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए, क्योंकि यह बहुत सारे खतरनाक दुष्प्रभावों का कारण बनती है जैसे कि…

  • तंद्रा
  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • पेट दर्द
  • बहुत ज़्यादा पसीना आना
  • वजन बढ़ना या वजन कम होना

“शीघ्रपतन की दवा” keep reading… 


दवाओं के PDE5 प्रकार…

  • दूसरा समूह PDE5 इनहिबिटर है जैसे सिल्डेनाफिल (वियाग्रा), तडलाफिल (सियालिस), आदि।
  • ये मूल रूप से इरेक्शन समस्याओं में उपयोग किए जाते हैं लेकिन कभी-कभी शीघ्रपतन के रोगियों में भी अच्छे परिणाम देते हैं।

सावधानी :अपने चिकित्सक से परामर्श के बिना इन दवाओं का उपयोग न करें।


स्थानीय क्रीम और स्प्रे …

  • इनका उपयोग शीघ्रपतन से निपटने के लिए भी किया जाता है।

इन क्रीम या स्प्रे में एनेस्थेटिक एजेंट जैसे लिडोकेन या प्रिलोकाइन होते हैं जो लिंग में आंशिक सुन्नता पैदा करते हैं।
इसके कारण सेक्स की समयावधि बहुत बढ़ जाती है।

  • लेकिन लिंग में सुन्नता के कारण यौन सुख या आनंद बहुत कम हो जाता है।
    इसलिए इन स्प्रे का उपयोग एक या दो बार करने के बाद लोग इनका उपयोग करना पसंद नहीं करते हैं।
  • अगर किसी को लंबे समय तक इसका इस्तेमाल किया जाए तो यह इरेक्शन की समस्या भी पैदा करता है।

लेकिन ये स्थायी समाधान नहीं हैं और इसके कई दुष्प्रभाव भी हैं।


स्खलन में देरी के लिए सरल व्यायाम और सर्वोत्तम घरेलू टिप्स क्या हैं?

1. कीगल व्यायाम(kegel exercise)…

  • यह एक प्रकार का व्यायाम है जो आपके श्रोणि क्षेत्र की मांसपेशियों की शक्ति को बढ़ाता है।
  •  और यदि आप इसे ठीक से कर रहे हैं तो इसका कोई नुकसान नहीं है।
  • यह व्यायाम श्रोणि क्षेत्र की मांसपेशियों की शक्ति को मजबूत करता है।
  • ये मांसपेशियां मूत्राशय और आंत्र को सहारा देती हैं और यौन गतिविधियों को बेहतर बनाने में भी मदद करती हैं।

आपको बार-बार पेशाब करते समय मूत्र के वेग को कुछ समय के लिए रोककर इसका अब्यास करना चाहिए।

यह तकनीक श्रोणि की मांसपेशियों को मजबूत बनाती है।

  • इसे आप रोजाना 2 से 3 बार कर सकते हैं। यह आपकी श्रोणि की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए एक सिद्ध तकनीक है,
  • यह मूत्र असंयम(urine incontinence), फेकल असंयम(fecal incontinence),
  • स्तंभन दोष(premature ejaculation) आदि जैसी अन्य मूत्र समस्याओं को ठीक करने में भी मदद करती है।

यह व्यायाम निश्चित रूप से शीघ्रपतन को ठीक करने में मदद करता है।


2. बंद करो और शुरू करो(stop and start technique)…

  • इस विधि में, सेक्स करते समय व्यक्ति सिर्फ संभोग से ठीक पहले या डिस्चार्ज होने से ठीक पहले सेक्स करना बंद कर देता है। फिर एक पल (10 से 20 सेकंड) के बाद जब उत्तेजना कम हो जाती है तो आदमी फिर से सेक्स करना शुरू कर देता है।
  • स्खलन में देरी करने के लिए यह तकनीक काफी प्रभावी है

लेकिन हर आदमी को इसे ठीक से सीखने के लिए अभ्यास करना चाहिए।


3. निचोड़ तकनीक(squeeze technique)…

  • इस तकनीक में, लिंगशीर्ष पर कुछ दबाव डालने से लिंग की उत्तेजना भी कम हो जाती है।
  • यह संभोग या निर्वहन से पहले भी किया जाता है।
  • इस विधि में स्खलन से ठीक पहले अपने साथी को हल्के दर्द देने के लिए अंगूठे और दो उंगलियों की मदद से अपने लिंग के शीर्ष क्षेत्र को दबाएं।
  • ऐसा करने से आपके लिंग की अत्यधिक उत्तेजना कम हो जाती है,
  • और 10 से 20 सेकंड बाद आप फिर से संभोग करना शुरू कर देते हैं।

याद रखें बहुत अधिक दबाव लागू न करें, इससे चोट लग जाएगी और लिंग को बहुत कोमलता से भी निचोड़ना नहीं है,

क्योंकि यह अप्रभावी है। शीघ्रपतन को कैसे ठीक किया जाए, यह तकनीक भी बहुत फायदेमंद है।

“शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa” पढ़ते रहे…


4. हस्तमैथुन तकनीक(masturbation technique)…

  • यह एक सरल टिप है इस तकनीक में आप यौन क्रिया करने से दो से तीन घंटे पहले हस्तमैथुन कर सकते हैं। इस विधि से आप अपने डिस्चार्ज का समय बढ़ा सकते हैं।

5. शीर्ष स्थिति पर भागीदार(partner on top position) …

  • इस तकनीक में, आप गुरुत्वाकर्षण(gravity) के खिलाफ स्खलन करते हैं, क्योंकि आपका साथी आपके शीर्ष पर बैठा है। यह आपके निर्वहन समय को बेहतर बनाने में भी मदद करता है।

6. क्लाइमेक्स कंट्रोल कंडोम(climax control condoms)…

  • आप चरमोत्कर्ष नियंत्रण कंडोम का उपयोग कर सकते हैं। ये कुछ विशेष प्रकार के कंडोम होते हैं, जिसमें शिश्न की संवेदनशीलता को कम करने के लिए इसके अंदरूनी हिस्से पर कुछ रसायन लगाए जाते हैं।

इस प्रकार के कंडोम में कभी-कभी विभिन्न बनावट का उपयोग किया जाता है।


7. स्खलन पलटा देरी से(by delaying ejaculatory reflex)…

  • इस तकनीक में जब आपको लगता है कि आप संभोग के दौरान डिस्चार्ज होने वाले हैं तो गहरी सांस लें और आराम करें।

ऐसा करने से आपके स्खलन में कमी आती है और इससे आपको अपने डिस्चार्ज का समय बढ़ाने में मदद मिलती है।


विशेष लेख…

  • कृपया अश्लील साइटों(porn sites) से प्रेरित न हों।
  • ऐसा इसलिए है क्योंकि इन साइटों में प्रदर्शित चीजें अधिक तीव्रता के रूपों में हैं,
  • जो एक सामान्य व्यक्ति के लिए संभव नहीं हो सकता है।
  • एक सामान्य व्यक्ति के पास औसतन पांच मिनट का समय होता है,
  • और यह समय संभोग शुरू करने के बाद स्खलन की सामान्य औसत अवधि है।
  • अगर आपको इस तरह की समस्या है तो कृपया शर्मिंदगी महसूस न करें।
  • ऐसा इसलिए है क्योंकि यह पुरुषों की सबसे आम समस्या है (तीन में से एक आदमी को इस प्रकार की समस्या है)।

यह एक गंभीर समस्या नहीं है आप इसे कुछ दवाओं के साथ आसानी से प्रबंधित(manage)कर सकते हैं।

  • आपको एक पेशेवर चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए और उचित उपचार लेना चाहिए।
  • सेक्सुअल एक्टिविटी तभी करें जब आपका पार्टनर रिलैक्स हो और अपने पार्टनर के साथ अच्छा रिलेशन बनाए।
  • सेक्स करते समय चिंता मुक्त वातावरण बनाएं।
  • ये सभी चीजें यौन रोगों के प्रबंधन(management) के लिए बहुत पर्भावशाली है‌‍ा

“शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa” पढ़ते रहे…


शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक उपचार(Ayurvedic treatment of premature ejaculation)…

  •  शिग्रपतन या शीघ्रपतन को आयुर्वेद में सतंबन दोष भी कहा जाता है,
  • आयुर्वेद में बहुत सारी हर्बल और सुरक्षित दवाएं उपलब्ध हैं।
  • इन दवाओं का उपयोग हजारों वर्षों से हमारे प्राकृतिक चिकित्सकों ने सिद्ध लाभों के साथ किया है।
    इस उपचार प्रक्रिया के पीछे कोई वैज्ञानिक व्याख्या या शोध मौजूद नहीं है,
  • लेकिन यह बिना किसी दुष्प्रभाव के बहुत प्रभावी है।
  • इस पद्धति में, एक जड़ी बूटी नहीं बल्कि विभिन्न प्रकार की जड़ी-बूटियों के समूह का उपयोग,
  • आयुर्वेदिक डॉक्टरों द्वारा इसे प्रभावी बनाने के लिए किया जाता है।

आयुर्वेद में उपयोग की जाने वाली सर्वोत्तम जड़ी-बूटियों के कुछ उदाहरण यहाँ दिए गए हैं जैसे  …

1. अश्वगंधा की जड़ का पाउडर (विथानिया सोमनीफेरा)

2. सफ़ेद मुसली (क्लोरोफाइटम बोरिविलियनम)

शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa
RUMI FOR SEXUAL AILMENTS

3. रूमी मस्तगी (पिस्ताकिया मसूर)

4. कौंच के बीज (मुकुना प्रुयेंस)

5. विदारिकंद (पुएरिया ट्यूबरोसा)

6. bhaang के बीज

7. तुलसी के बीज

8. शतावरी की जड़ का चूर्ण (शतावरी रेसमोसस)

9. तालमखाना या कोकिलक्ष बीज (मधुशाला)

10. गोक्षुर पाउडर (ट्रिबुलस टेरेट्रिस)

शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa
SHILAJIT TO IMPROVE PME

11. शिलाजीत…इसके और फायदे जानने के लिए पढ़े…

“शुगर के कारण,लक्षण व सभी उपचार”

12. उत्तंग बीज (ब्लेफेरिस एडुलिस)

13. अकरकरा (एनासाइक्लस पाइरेथ्रम)

"शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa"
KESAR

14. केसर (केसर)

"शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa"
SALAM PANJA

15. सलाम पंजा

16. सलाम मिश्री

17. शिमुल मूल (बॉम्बैक्स सीइबा)

18. जयफल (जायफल)

19. जावित्री (गदा)

20. बीज बिधारा (अरगिरिया नमूना)

  • इसलिए ऐसी ओर कई अन्य जड़ी-बूटियाँ हैं जिनका उपयोग आयुर्वेदिक पेशेवर(Ayurvedic Doctor) के परामर्श से किया जा सकता है।
  • इन जड़ी बूटियों की प्रभावशीलता के बारे में कोई संदेह नहीं है।

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज…

  • शीघ्रपतन को ठीक करने के लिए अकरकरा सबसे उपयोगी जड़ी बूटी है।

    "शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa"
    AKARKARA BEST FOR PME

  • Kaminividrawan ras शिग्रपतन में 90% से अधिक सफलता दर के साथ एक और आयुर्वेदिक पेटेंट दवा है।
  • लेकिन इसे आयुर्वेदिक पेशेवर की सिफारिश के बाद लेना चाहिए।
  • खुराक: रात में संभोग से एक घंटे पहले 2 गोलियां गुनगुने दूध के साथ।

ये जड़ी-बूटियाँ आपके टेस्टोस्टेरोन(testosterone male sex hormone) के स्तर को बढ़ाती हैं,

ओर कई अन्य यौन समस्याओं(sexual problems) को ठीक करने में भी मदद करती हैं जैसे कि …

  • नपुंसकता(impotency)
  • कम लिबिडो(low libido)
  • तनाव में कमि होना(Erectile dysfunction)
  • कम सहनशक्ति(low stamina or low man power)
  • बांझपन(Infertility)
  • यौन कमजोरी आदि।

शीघ्रपतन का इलाज घर पर कैसे करें?

घरेलू उपचार(home remedies)…

                                                                   *आपको चार चीजें लेनी चाहिए …
1. 10 बादाम (रात को भीगे हुए बादाम को बिना छिलका उतारे)

2. सूखे खजूर के 4 से 5 टुकड़े (छुहारा बिना बीज के)

3. आधा चम्मच (2 से 3 ग्राम लगभग) खसखस ​​(poppy seeds)

4. एक चम्मच (5 ग्राम लगभग) शुद्ध शहद

  • सभी को एक साथ मिलाकर ग्राइंडर या खरल में पेस्ट बना लें। और संभोग से 2 घंटे पहले और सुबह खाली पेट भी लें।
  • शीघ्रपतन ठीक करने के लिए यह घरेलू उपाय बहुत प्रभावी है।
  • खुराक … आप इस पेस्ट को उंगली की सहायता से चाटकर लगभग 5 ग्राम तक ले सकते हैं।
  • शिग्रपतन से छुटकारा पाने के लिए आप इसे नियमित रूप से 2 महीने तक ले सकते हैं।

शीघ्रपतन को कैसे ठीक किया जाए, इसके लिए यह एक वास्तविक घरेलू उपचार है,

लेकिन इसके सटीक कारण और उपचार को जानने के लिए आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawaशीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa

२. दूसरा, सबसे अच्छा घरेलू उपाय गिलोय सत्व और शुद्ध वंशलोचन को समान मात्रा में लेना है।

फिर इनका पाउडर बनाकर मिक्स करें।

  • इसे 2 ग्राम की मात्रा में 2 से 3 महीने तक रोजाना शुद्ध शहद के साथ लें।
  • यह उपाय वीर्य की गुणवत्ता को बड़ा कर शीघ्रपतन को दूर करने में मदद करता है।

3. बरगद के पेड़ का फल (ficus bengalensis)…

  • यह पौरुष शक्तिवर्धक योग बहुत ही काम में आता है,
  • लेकिन पुरुषत्व को ताकत देने, वीर्य को गाढ़ा बनाकर शिग्रपतन को रोकने और,
  • चेहरे में लालिमा लाने में कोई महंगे से महंगा फल भी इसका मुकाबला नहीं कर सकता है।
  • यह आश्चर्यजनक तौर पर बरगद का फल है।
  • बरगद (बढ़) के बिल्कुल पके लाल रंग के फलो को सावदानी पूर्वक वृक्ष से उतारिये।

जमीन पर गिरने न दीजिये एवं इसको कोई लोहे के चीज से टच मत होने दीजिये |

  • किसी कपड़े पर फैलाकर छाया में शुष्क(dry) कर लें। हवादार स्थान पर शुष्क करें नही तो खराब हो जायेंगे।
  • शुष्क हो जाने के बाद इन फलों को हाथों से खूब मसल लीजिए या किसी पत्थर की खरल में बारीक पाउडर  कर लीजिए।
  • लेकिन लोहे के हमामदस्ते का कदापि इस्तेमाल न करे|

इन फलों के चूर्ण के बराबर मात्र में  मिश्री कूजा का चूर्ण मिलाकर सुरक्षित  रख लें।

  • 5-5 ग्राम की मात्र में गर्म दूध के साथ प्रयोग करने से चेहरे पर वही रंग हो जाता है जो इन फलों का होता है।
  • जिन लोगों को स्त्री के पास जाते ही शिग्रपतन  हो जाता है,
  • उनके लिए वरदान भेंट है, शीघ्रपतन की बिमारी शर्तिया इसके प्रयोग से दूर हो जाती  है।

कोई भी आसानी से इस देसी नुस्खे को घर पर आसानी से तयार कर सकता है इसको तयार करने में कोई खर्च नहीं आता|

  • ये आयुर्वेदिक दवा है जिसके पीछे अबी तक कोई भी साइंटिफिक रीसार्च उपलब्ध नहीं है,
  • परन्तु ये नुस्खा काफी प्रभावशाली है|

“”शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa”” आगे ओर पढ़े…


शीघ्र स्खलन का इलाज में होम्योपैथी(Homeopathic treatment of premature ejaculation)…

होम्योपैथी एक अच्छी तरह से स्थापित चिकित्सा उपचार प्रणाली भी है।

  • होम्योपैथी में, विभिन्न प्रकार की बीमारियों के लिए बहुत सारी दवाएं हैं।
  • यहां मैं आपको कुछ महत्वपूर्ण दवा बताऊंगा जो वास्तव में शीघ्रपतन के लक्षण, कारण, सारे उपचार और परहेज  ठीक करने में आपकी मदद करता है।

१. R 41 By Reckeweg …

R41 में एक दवा का नाम एसिड फॉस है। यह नपुंसकता के उपचार में बहुत प्रभावी है।

  • दूसरा, इसका एक दवा है जिसका नाम एग्नस कैस्टस है जो कई रोगों में भी उपयोगी है।
  • तीसरा, इसमें चीन ऑफिसिनैलिस भी है जिसमें बहुत सारे कार्य हैं। कमजोरी और कम कामेच्छा का इलाज करने के लिए।
  • चौथा यह भी एक दवा का नाम है Conium maculatum भी नपुंसकता के इलाज के लिए एक बहुत ही उपयोगी दवा है।
  • पांचवीं दवा दामियाना है जो जननांग अंगों को ताकत प्रदान करती है।
  • छठी दवा है इसमें सेपिया है जो पीएमई(शिग्रपतन) में भी उपयोगी है अगर यह शारीरिक या मानसिक थकान के कारण हो।
  • इसमें सातवीं दवा है टेस्टिस एस। जो वास्तव में आपके टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाता है।

R41 दवा का उपयोग कैसे करें…

  • भोजन से आधा घंटा पहले दिन में तीन बार आधा गिलास पानी में आर 41 की 15 बूंदें लें।
    आप इस दवा को सुरक्षित रूप से उपयोग कर सकते हैं और यह नपुंसकता, कम कामेच्छा, धातुरोग (वीर्य के हल्के अनैच्छिक निर्वहन) और रात की समस्या जैसे स्वपनदोष में भी काम करता है।

यह दवा ऑनलाइन या किसी भी होम्योपैथिक मेडिकल स्टोर से खरीदें, इसके अतिरिक्त एक और बहुत ही असरदार दवा है…

२. CALADIUM SEGUINUM 200 CH…

  • शीघ्रपतन का कोई पेशेंट जोकि तंबाकू का सेवन अत्याधिक करता है उसके लिए यह दवा वरदान है,
  • जिसका सेक्स के बारे में मात्र सोचने से या स्त्री के पास जाने से या रात को सोते समय स्वपनदोष हो जाता है,
  • वह मरीज इस दवाई का सेवन कर सकते हैं,
  • इसके लिए आपको इस दवा की दो बूंद रात को लेनी है, यह बूंदें डायरेक्टली सीधा अपनी जिह्वा पर डालें,
  • और इसका कुछ दिन लगातार प्रयोग करें, इससे आपको बहुत ही फायदा होगा हमने इसके रिजल्ट्स कई पेशेंट में खुद देखे हैं,
  • शीघ्रपतन के लक्षण, कारण, सारे उपचार और परहेज में इस दवा को जरूर आजमायें |

“शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa” share it maximum…


मेरी राय(personal ओपिनियन)…

  • मेरी राय में, आपको शीघ्रपतन को ठीक करने के लिए सुरक्षित आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवाओं की कोशिश करनी चाहिए।
  • अगर आपकी समस्या गंभीर है तो मनोचिकित्सक से सलाह अवश्य लें।
  • यदि आपको किसी भी प्रकार की हृदय, किडनी, या यकृत की समस्या है, तो आधुनिक अंग्रेजी दवा न लें।
  • अंत में, मेरा सुझाव है कि आप सेक्स को एक मनमौजी कृत्य के रूप में लें और आप जानते हैं कि सरल घरेलू टिप्स को लागू करके कैसे सेक्स प्रदर्शन बडाया(sexual performance) जाए।
  • अखबार या किसी अन्य सोशल मीडिया में विज्ञापन देखकर बहुत सारा पैसा बर्बाद न करें।
  • इसमें कोई संदेह नहीं है कि कुछ पेटेंट आयुर्वेदिक ब्रांडों के शानदार परिणाम हैं लेकिन खरीदने से पहले आप इसके लेबल की जांच कर सकते हैं।

हमेशा गुणवत्ता वाले आयुर्वेदिक या हर्बल ब्रांड खरीदें।

  • आयुर्वेदिक ब्रांड आप लंबे समय तक बिना किसी तनाव(tension) के उपयोग किये जा सकते हैं।
  • ये ब्रांड आपको कई अन्य लाभ भी देते हैं और निश्चित रूप से शीघ्रपतन के लक्षण, कारण, सारे उपचार और परहेज को ठीक करने में मदद करते हैं।
  • अधिक अपडेट के लिए कृपया www.curetoall.com पर जाएं और मुझे [email protected] पर मेल करें और नीचे दिए गए लेखों को भी पढ़ें:
  • द्वारा लिखित: डॉ.वी .के. गोयल बीएएमएस एमडी (एएम)

यहाँ  मैंने “शीघ्रपतन की दवा-shigrapatna ki dawa” के बारे में विस्तार से बताया है कृपया इसे ध्यान से पढ़कर इसका लाभ उठायें 


“शीघ्रपतन की दवा” का अस्वीकरण(disclaimer)…

  • इस लेख की सामग्री व्यावसायिक चिकित्सा सलाह(professional medical advice), निदान(diagnosis) या उपचार(ट्रीटमेंट) के विकल्प के रूप में नहीं है।
  • चिकित्सीय स्थिति के बारे में किसी भी प्रश्न के लिए हमेशा चिकित्सीय(doctor कंसल्टेशन) सलाह लें।
  • उचित चिकित्सा पर्यवेक्षण(without proper medical supervision) के बिना अपने आप को, अपने बच्चे को, या किसी और के इलाज करने का प्रयास न करें।

Image-creditधन्यवाद to www.pixabay.com

अधिक जानकारी के लिए कृपया hindi.curetoall.com पर जाएं और नीचे दिए गए आर्टिकल्स को भी पढ़ें:

IMAGE CREDIT:https://www.pexels.com/photo/unhappy-black-couple-sitting-on-bed-after-having-argument-5700170/


 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

hello
%d bloggers like this: