Sporlac DS Tablet Uses in Hindi

Sporlac DS Tablet Uses in Hindi- दस्त के इलाज की बेस्ट दवा

Sporlac DS Tablet Uses in Hindi: दवा की सामान्य जानकारी…

संरचना (Composition)लैक्टिक एसिड बेसिलस (कम से कम 120 मिलियन स्पोरस ऑफ़ Lactobacillus Sporogens)
दवा का प्रकार (Type of Medicine)प्रोबायोटिक (Probiotic)
उत्पादक कंपनीSanzyme Pvt. Ltd.
प्रिस्क्रिप्शनजरूरी नहीं है 
Main उपयोगदस्त (Diarrhoea), IBS, अपचन
दुष्प्रभाव (Side-effects)पेट फूलना, अफारा (Flatulence), गैस
सावधानियांं (Precautions)एलर्जी, अतिसंवेदनशीलता
बिक्री मूल्य 97 रुपए के लगभग प्रति 20 गोलियां 

Sporlac DS tablet के सामान्य इस्तेमाल

इस दवा का इस्तेमाल प्रमुख रूप से डायरिया या अतिसार के इलाज के लिए किया जाता है इस डायरिया का कारण बैक्टीरियल संक्रमण (Bacterial infection) या ज्यादा एंटीबायोटिक के इस्तेमाल के कारण आंतों में नष्ट हुए गुड बैक्टीरिया (Upset Bacterial Flora) भी हो सकते हैं

  • आंतों में रहने वाले तथा आंतों के स्वास्थ्य को बनाए रखने वाले कुछ खास किस्म के बैक्टीरिया होते हैं जिनको गुड बैक्टीरिया या प्रोबायोटिक्स कहते हैं 

ज्यादा एंटीबायोटिक दवाइयों के इस्तेमाल से शरीर में पनपने वाले बुरे बैक्टीरिया के साथ साथ आंतों में रहने वाले अच्छे बैक्टीरिया भी नष्ट हो जाते हैं, जिसकी वजह से पीड़ित व्यक्ति को पेट में गड़बड़ी, दस्त या डायरिया इत्यादि की शिकायत हो जाती है 

  • ऐसी स्थिति से निजात पाने के लिए किसी भी रूप में प्रोबायोटिक्स का सेवन करना बहुत जरूरी है

Sporlac DS टेबलेट एक प्रोबायोटिक दवा है जिसमें लगभग 120 मिलियन लैक्टिक एसिड बेसिलस यानी गुड बैक्टीरिया होते हैं जिसके सेवन से आंतों में नष्ट हुए गुड बैक्टीरिया फिर से बहाल हो जाते हैं

जिससे आंतों में होने वाली अनेक प्रकार की समस्याएं जैसे कि…

  • इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS)
  • अपचन (Indigestion)
  • बैक्टीरियल संक्रमण (Bacterial infections of Gastrointestinal tract)

विकृत हुई Gut Flora फिर से सही होने लगती है


Sporlac DS Tablet के घटक (sporlac composition)

इस दवा में मुख्य रूप से लैक्टिक एसिड बेसिल्लुस (Lactic Acid Bacillus) नामक गुड बैक्टीरिया होते हैं जो संख्या में कम से कम 120 मिलीयन होते हैं 

  • यह गुड बैक्टीरिया प्रोबायोटिक्स (Probiotics) कहलाते हैं जिनका मुख्य कार्य आंतों के अंदर रोगकारक बैक्टीरिया के विकास को रोकना तथा अच्छे बैक्टीरिया के विकास को बहाल करना होता है

यह प्रोबायोटिक्स आंतों के अंदर आंतों के स्वास्थ्य (Maintain Gut Health) को हर प्रकार की स्थिति में कायम रखते हैं


Sporlac DS Tablet कैसे कार्य करती है ? (sporlac DS uses)

जब किसी भी कारणवश जैसे शरीर के किसी भी हिस्से में होने वाले बैक्टीरियल संक्रमण के कारण ज्यादा मात्रा में जीवाणु-रोधक (Antibiotics) दवाइयों का इस्तेमाल किया जाता है तो इनके इस्तेमाल से प्रोबायोटिक्स या आंतों में रहने वाले अच्छे बैक्टीरिया (Good Bacteria) नष्ट हो जाते हैं जिससे आंतों का स्वास्थ्य बिगड़ जाता है 

  • ऐसा होने से कई व्यक्तियों को पेट दर्द या डायरिया (Diarrhoea) की शिकायत हो जाती है 

ऐसी स्थिति में Sporlac DS टेबलेट का सेवन करने से अप्राकृतिक (Synthetic) रूप से तैयार किए गए अच्छे बैक्टीरिया या प्रोबायोटिकस शरीर में फिर से पहुंचकर आंतों के स्वास्थ्य को सही करते हैं रोग-जनित बैक्टीरिया के विकास की रोकथाम करते हैं

इस टेबलेट में मौजूद लैक्टिक एसिड बेसिलस (LAB) आंत के अंदर के माहौल को बुरे बैक्टीरिया (Bad bacteria) के विकास के लिए प्रतिकूल (Unfavorable) बना देता है

आमतौर पर मरीज की भाषा में इसे गरम दवाइयों (Antibiotics) का सेवन करने की वजह से पेट में हुई गर्मी (Disturb Gut Flora) की शिकायत कहते हैं

जिसका इलाज Sporlac DS टेबलेट या Sachet के इस्तेमाल से संभव होता है


Sporlac DS Tablet किन स्थितियों मे निर्धारित की जाती है?- When doctors prescribe Sporlac DS Tablet to the patients-

Sporlac DS tablet नीचे लिखी परिस्थितियों में इलाज के लिए डॉक्टरों के द्वारा दी जाती है जैसे कि…

  • डायरिया या अतिसार (Antibiotic induced Diarrhoea)
  • आंतों में होने वाले संक्रमण (Infections of the Intestine)
  • इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (Irritable Bowel Syndrome)
  • अपचन मे (For Production of Digestive Enzymes)

जीवाणु रोधक दवाइयों के कोर्स के साथ तथा बाद मे आंतों के स्वास्थ्य को बहाल करने के लिए इत्यादि


Sporlac DS Tablet के साइड इफेक्टस (sporlac DS side effects)

ज्यादातर मामलों में Sporlac DS टेबलेट के इस्तेमाल से किसी भी प्रकार का कोई भी दुष्प्रभाव बच्चों या बड़ों में नहीं होता है परंतु फिर भी कुछेक मामलों में बहुत ही सामान्य से दुष्प्रभाव वह भी सकते हैं जैसे कि…

  • पेट में गैस बनना (Gas)
  • अफारा (Flatulence) इत्यादि

सावधानियां (Precautions)

1. Sporlac DS टेबलेट में मौजूद घटकों से अगर किसी व्यक्ति को अति-संवेदनशीलता या एलर्जी है तो ऐसी स्थिति में इस दवा के सेवन से परहेज करना जरूरी है

2. अगर किसी व्यक्ति का अंग प्रत्यारोपण (Organ Transplantation) हुआ है तो ऐसी स्थिति में बिना डॉक्टरी सलाह टेबलेट Sporlac DS का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

3. गंभीर गुर्दे या लिवर की बीमारी से पीडित व्यक्ति को भी बिना डाक्टरी सलाह इस दवा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए


Sporlac DS टेबलेट का इस्तेमाल करने का तरीका (sporlac dosage)

Sporlac DS टेबलेट की एक गोली सुबह तथा एक गोली शाम को खाना खाने से पहले या बाद में दो से चार हफ्तों के लिए डॉक्टर के कहे अनुसार ले सकते हैं

इस टेबलेट को बिना तोड़े, चबाए या कुचले साबुत ही निगलना चाहिए


Sporlac के अन्य उत्पाद (sporlac ds uses in hindi)

यह दवा बाजार में मुख्य रूप से 3 रूपों में उपलब्ध है जैसे कि…
  • 1. Sporlac DS Tablet – व्य्स्क (Adults) व्यक्तियों के इस्तेमाल के लिए
  • 2. Sporlac Sachet – पाउडर के रूप में 4 से 12 साल तक की उम्र के बच्चों मे इस्तेमाल करने के लिए
  • 3. Sporlac Syrup (50 ml) – 6 महीने से 4 साल तक की उम्र वाले ज्यादा छोटे बच्चों मे इस्तेमाल करने के लिए

Sporlac DS टेबलेट का संग्रहण (Storage)

  • इस दवा को सामान्य तापमान पर कमरे में स्टोर कर सकते हैं
  • इसे सीधी धूप तथा नमी वाली जगह से दूर रखना चाहिए
  • पालतू जानवरों तथा बच्चों से भी इस दवा को दूर रखें
  • इस टेबलेट को सूखी तथा ठंडी जगह पर स्टोर करके रखना चाहिए

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (sporlac tablet uses in hindi)

Q Sporlac DS टेबलेट के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर को क्या बताएं?

A इस टेबलेट के इस्तेमाल से पहले अगर आपको लैक्टिक एसिड बेसिलस से एलर्जी है या आप कोई इम्यूनोसपरेसेंट (immuno-suppressant medicines) या एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) दवाइयों का सेवन कर रहे हैं तो यह बात डॉक्टर को बताना जरूरी है


Q Sporlac डीएस गोली का उपयोग क्या है?

A Sporlac DS का मुख्य उपयोग ज्यादा एंटीबायोटिक सेवन से होने वाले पतले दस्त या डायरिया का इलाज करना है इसके अतिरिक्त अपचन, इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम इत्यादि समस्याओं में भी यह टेबलेट उपयोगी है


Q मुझे Sporlac गोलियां कब लेनी चाहिए?

A अगर किसी भी परिस्थिति में एंटीबायोटिक दवाइयों के कोर्स के दौरान या बाद में आंतों के स्वास्थ्य को फिर से बहाल करने के लिए सुबह शाम कुछ दिन इस टेबलेट का इस्तेमाल किया जा सकता है ज्यादा लंबी अवधि तथा खुराक की बेहतर जानकारी के लिए चिकित्सक की सलाह लेना बहुत जरूरी है


Q Sporlac किस से नहीं लेना चाहिए?

A गर्भवती स्त्रियों या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को बिना डॉक्टरी सलाह Sporlac DS टेबलेट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए इसके अतिरिक्त अगर किसी व्यक्ति को इस दवा से एलर्जी है तो ऐसी स्थिति में भी इस दवा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए


Q स्पोरलैक लूज मोशन के लिए अच्छा है?

A जी हां, किसी भी प्रकार के लूज मोशन या डायरिया की समस्या में यह दवा बहुत ही उपयोगी है


Q क्या कब्ज के लिए Sporlac का उपयोग किया जाता है?

Sporlac DS टेबलेट या सेशे प्रमुख रूप से प्रोबायोटिक् दवा है जिसका उपयोग जीवाणु रोधक दवाइयों के कारण या किसी भी प्रकार के संक्रमण की वजह से होने वाले पतले दस्त या डायरिया के इलाज के लिए किया जाता है

कई परिस्थितियां जैसे कब्ज, अपचन, पेट के अल्सर, इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS) तथा कोलाइटिस इत्यादि में भी कई चिकित्सक इस दवा का प्रयोग सहायक औषधि के रूप में करते हैं


Q Sporlac DS टेबलेट का विकल्प क्या है?

A इस दवा के विकल्प के रूप में आप लीफोर्ड कंपनी की टेबलेट Labspor DS का इस्तेमाल कर सकते हैं


Q Sporlac DS टेबलेट का निर्माण कौन सी कंपनी करती है?

A भारत देश में Sporlac DS टेबलेट का उत्पादन संजाईंम लिमिटेड (Sanzyme) के द्वारा किया जाता है


Q Sporlac DS टेबलेट का खरीद मूल्य क्या है?

A भारत देश में Sporlac DS टेबलेट की 20 गोलियों के Strip का मूल्य 97 रुपए के लगभग है


निष्कर्ष (tab sporlac ds in hindi) 

गलत खानपान तथा अस्वस्थ जीवन शैली के कारण बहुत से लोग पेट की समस्या से पीड़ित है ऐसी स्थिति में धड़ल्ले से एंटीबायोटिक दवाइयों का सेवन बहुत से लोगों के द्वारा किया जा रहा है

जिसकी वजह से उनके आंतों का स्वास्थ्य बिल्कुल बिगड़ जाता है ऐसे व्यक्ति पेट दर्द, मरोड़ या दस्त की शिकायत से ग्रस्त रहने लगते हैं ऐसी स्थिति में आंतों के स्वास्थ्य को कायम करने तथा जीवाणु रोधक दवाइयों के ज्यादा इस्तेमाल से होने वाले अतिसार या डायरिया के इलाज में टेबलेट Sporlac DS बहुत ही असरदार है इसकी 2 से 3 दिन की खुराक ही मरीज को अपना असर दिखा देती है

इसके अतिरिक्त पेट से संबंधित अन्य समस्याएं जैसे इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम(IBS), अपचन तथा अफारा आदि में भी यह दवा (Sporlac DS tablet uses in hindi) बहुत फायदा करती है


Disclaimer (Sporlac DS tablet uses in hindi)

इस लेख की सामग्री व्यावसायिक चिकित्सा सलाह(professional medical advice), निदान(diagnosis) या उपचार(ट्रीटमेंट) के विकल्प के रूप में नहीं है।

  • चिकित्सीय स्थिति के बारे में किसी भी प्रश्न के लिए हमेशा चिकित्सीय(doctor कंसल्टेशन) सलाह लें।

उचित चिकित्सा पर्यवेक्षण(without proper medical supervision) के बिना अपने आप को, अपने बच्चे को, या किसी और का  इलाज करने का प्रयास न करें।

इसे भी पढ़ें “टाइफाइड की जांच in हिंदी”

Information Compiled- by Dr. Vishal Goyal

Bachelor in Ayurvedic Medicine and Surgery

Post Graduate in Alternative Medicine MD (AM)

Email ID- [email protected]

Owns Goyal Skin and General Hospital, Giddarbaha, Muktsar, Punjabwriter-

“Sporlac DS tablet uses in hindi” पढने के लिए धन्यवाद…

कृपया इन्हें भी पढ़े-

१.”कमरदर्द का रामबाण इलाज़ हिन्दी में

२.”कब्ज़ के कारण, लक्षण व् इलाज़ हिन्दी में

३.”लिव 52 टेबलेट के सभी फायदे

४.”बढे हुए sgot तथा sgpt को कम करने के उपाए

५.”बढे हुए कोलेस्ट्रोल को कम करने के उपाए


सन्दर्भ:

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4884264/- role of probiotics to maintain GUT health

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1123310/Antibiotic induced diarrhoea study

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

hello
%d bloggers like this: